पेशावर pesahwar लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
पेशावर pesahwar लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

लिख दिया पेशावर





लिख दिया पेशावर
दर्द, आंसू, चीख
लिखना था सन्नाटा
लिख दिया पेशावर ।
मौत, जुल्म, जिंदगी
लिखना था जज्बात
लिख दिया पेशावर ।
कॉपी, पेंसिल, हरा लिबास
लिखना था इम्तहान
लिख दिया पेशावर ।
जनाजा, कब्र, मय्यत
लिखना था मातम
लिख दिया पेशावर ।
बेबसी, बेसबब, बदहवास
लिखना था बारूद
लिख दिया पेशावर ।।